Namumkin Ko Mumkin Karne Ki Dua

Namumkin Ko Mumkin Karne Ki Dua
Namumkin Ko Mumkin Karne Ki Dua

Namumkin Ko Mumkin Karne Ki Dua

अस्सलामु अलैकुम मेरे दोस्तों आज आपके सामने हर नामुमकिन काम को मुमकिन बनाने और उसे करने की दुआ पेश कर रहा हूँ . दुनिया में बहुत से नामुमकिन काम हैं , जो एक इंसान पूरी ज़िंदगी बार मुमकिन नहीं कर सख्ता हैं . नामुमकिन को मुमकिन करने की दुआ , अल्लाह से की हुई दुआ भी उस इंसान के काम या साथ नहीं देती हैं . अल्लाह ता ’अला को राज़ी (हैप्पी ) करने के लिए उसे दुआ , वज़ीफ़ा करना परता हैं . आप नमाज़ को मत कहिये की मुझे काम करना , आप काम को कहिये की मुझे नमाज़ करनी हैं . इस दुनिया में सब कुछ हो सकता हैं बस आप अल्लाह पर याकिन रखे .

कभी कभी सबर से ज़्यादा दुआ की ज़रुरत होती हैं . नामुमकिन को मुमकिन बनाने की दुआ , जब उससे मुश्किल वक़्त का सामना करना परता हैं . कुछ ला -हासिल नहीं होता दुआ तक़दीर बदल देती हैं . नामुमकिन काम बहुत हैन जो आपको परेशां करते रहते हैं . शादी में रुकावट आना , रिश्ते नहीं होना , नौकरी न मिलना , कोई दवा दुआ न लग्न , किसी बुसिनेस्स में सक्सेस न होना , पासना की शादी न होना .

कुछ अछि बातेंन जो आपकी ज़िंदगी बदल दे

हम्हारे पास बहुत से परेशान लोग आते हैं और हमसे अपनी शेयर करते हैं . वो जो अपनी ज़िंदगी से परेशां हैं . हम बस उनने एहि कहते हैं की आप अपने आपको देख कर मत जिओ दुसरो की ज़िंदगी से सीखे की वो कैसे जीते हैं , क्योकि उनकी परेशानी के सामने आपकी परेशानी कुछ भी नहीं . कुछ अछि बातिअन अपनी ज़िंदगी में डेल और अल्लाह आपकी ज़िंदगी सवार देंगे . अल्लाह आपको हमेशा कुछ रखेंगे . उसके बाद आप जो भी नामुमकिन काम करेंगे वो अल्लाह अपने आप मुमकिन बना देंगे इंशा अल्लाह .

कभी किसी इंसान के बारे में गलत न बोले याद रखिये क्योकि उसकी भी ज़ुबान हैं और आपके भी कान हैं ;
एक दूसरे की इंसल्ट न करे ;
गलत राह न चले :
जब आप किसी का ाचा करेंगे तब आपके साथ ाचा होगा बस सबर रखिये ;
अपने वालिदैन (पेरेंट्स ) और सब से अछए और मोहब्बत से रहो ;

Wazifa For Impossible To Possible

अगर आप किसी ऐसी मुश्किल में हैं जिस का हल आप की समझ में नहीं आ रा हैं . उस वक़्त अपने मुसीबत न हो क्योकि अल्लाह के सामने कोई भी चीज़ नामुमकीन नहीं हैं , अल्लाह किसी वक़्त कुछ भी कर सकते हैं , आप इस वज़ीफा तो मेक इम्पॉसिबल तो पॉसिबल को
करे और कुछ ही दिनों के बितर अल्लाह आपका नामुमकिन काम को मुमकिन बनता हैं .

सबसे पहले अमल ताज़ा वज़ू कर के जाये नमाज़ में बेटे ,
जिस कमरे में आप ये वज़ीफ़ा करे दयँ रहे की उस कमरे में आप कइलावा कोई न हो ,
फिर १३ मर्तबा सौराह हुड फर कर पूरे खुशु ो खुज़ु के साथ दुआ करें और यइ तसवर रखें की आप अल्लाह के सामने बेटे हैं और अल्लाह आप की बात सुन रहे हैं , इन श अल्लाह एक दफा के अमल से ही काम होजाये गए .
इस वज़ीफ़ा को अपने सोने से टिक पहले ही करना हैं .
हम अल्लाह सइ आपके लिए दुआ करेंगे की आपका हर नामुमकिन काम मुमकिन बन जाये इंशा अल्लाह .

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*