Dushman ko Barbad Karne Ka Wazifa दुश्मन को बर्बाद करने का वज़ीफ़ा

Dushman ko Barbad Karne Ka Wazifa,“दुश्मन को बर्बाद करने का वज़ीफ़ा इस नक़्श को साअत मिर्रीख में मंगल या हफ़ते के रोज़ ज़वाल कमर में लिखो और पुरानी कब्र में डालो, फ़लां बिन फ़लां की जगह इन दोनों के नाम लिख जिनके दर्मियान अदावत डालनी है फ़ौरन असर होगा. नक़्श आयत का लिखे.                  
 

दुश्मन की तबाही व बर्बादी के लिए वज़ीफ़ा 

बकरी या बकरे का दिल लाये और ये नक़्श एक कागज पर लिख कर नक़्श के नीचे नाम दुशमन और वालिदा का लिखकर दिल का चीर कर इसमें रख कर  सात सुइयां इस तरह गाड़ दें कि वह शगाफ़ बंद हों जायें लेकिन हर सुई पर सात मर्तबा पढ़कर चुभो दें और पुरानी कब्र में दफ़न कर दें इन्शा अल्लाह तआला तीन रोज़ में दुशमन बीमार हों जायेगा. हक़ पर करें नाहक पर न करें.

दीगर

दुआएं हैदरी एक सैफ क़हर रब्बानी है. बहुक्मे खुदा दुशमन मगलूब होते है और दुशमनाने इस्लाम हलाक़ होते है. तरकीब ये है कि अगर हिला किये अदाये इस्लाम और फ़तह व नुसरत लशक इस्लाम के लिए ये दुआ पड़नी चाहिए तो जमाअत कसीर मस्जिद में या किसी पाकीज़ा मकान में पढ़े. जिस तरह खत्म खवाजगान का तरीका है. और जमाअत में पढ़ने के लिए फी कस तादाद 21 बार है और हर शख़्स एक जलसा में इक्कीस बार पढ़े. चाहिए मजमूई तादाद हजारों लाखों क्यों न हों जायें कोई बात नहीं है. मगर हर आदमी 21 मर्तबा पढ़ कर हिलाकी दुश्मनाने दीन के लिए दुआ करें. जब एक आदमी मग़लूबी दुशमन के लिए पढ़े तो तरकीब ये है कि एक सौ उनहतर 169 मर्तबा रोज़ाना पढ़े इस तरकीब सपे कि दुशमन का नाम ज़मीन पर लिखें. लकड़ी की नोंक से और खारदार दरख़्त जैसे -बबूल यानि कीकर या बेरी की शाखा हाथ में लें और तेरह मर्तबा पढकर शाख पर दम करके तीन मर्तबा इस नाम पर मारे फिर तेरह मर्तबा पढ़े और फिर नाम पर मारे. इस तरह तेरह मर्तबा करें कुल तादाद एक सौ उनहतर होगा. तेरह मर्तबा पढ़े और मारो इसी तरह मर्तबा करो हुक्मे खुदा दुशमन इज़हार आजजी करेगा. ये अमल सैफ कातेह है अगर दुशमन का मुहम्मद या अल्लाह या बुजुर्ग मोहतरम का नाम है तो फिर ज़मीन पर मत लिखो तसव्वुर से दुशमन का ख्याल करते हुए ज़मीन पर मारो. ये तेरह रोज़ का है. कोई परहेज महीना या दिन की जरूरत व शर्त नहीं है.
दुआएं हैदरी ये है-
दीगर:- घोड़े के पुराने नाल पर दुशमन का नाम मअ वालिद के तहरीर करें और इसके नीचे ये नक़्श लिखे और आग में डाल दें दुशमन बैचेन होकर सुलह करने की कोशिश करेगा. 
नक़्श ये है –

नक़्श:- 

          
  

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*